Home टॉप 5 वर्षीय बच्चे को गुलदार ने बनाया अपना निकाला, परिवार में छाया मातम

5 वर्षीय बच्चे को गुलदार ने बनाया अपना निकाला, परिवार में छाया मातम

पौड़ी: घर के पास खेल रहे पांच साल के बच्चे को गुलदार ने निवाला बना लिया। सूचना पर वन विभाग, राजस्व व पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। आक्रोशित ग्रामीणों ने टीम के सामने गुलदार को नरभक्षी घोषित किए जाने की मांग उठाई । ऐसा न होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी। वहीं वन विभाग ने क्षेत्र में गश्त बढ़ाते हुए गुलदार को पकड़ने के लिए पिंजरा लगा दिया है।

घटना विकास खंड पाबौ के निसणी गांव में शाम साढ़े पांच बजे हुई।  यहां के निवासी रविंद्र सिंह का पांच वर्षीय बेटा पीयूष अपने दोस्तों के साथ घर के समीप सड़क पर खेल रहा था। शाम साढ़े पांच बजे अचानक घात लगाए गुलदार ने पीयूष पर हमला कर दिया। बच्चों की चीखपुकार सुनकर ग्रामीण दौड़े तो गुलदार भाग गया। तब तक पीयूष की मौत हो गुची थी।  घटना के बाद परिवार में कोहराम मच गया। पीयूष की मां बेसुध हो गई।

सूचना पर कोतवाली पौड़ी के पुलिस चौकी पाबौ से चौकी प्रभारी दीपक पंवार मय फोर्स मौके पर पहुंचे। इसके अलावा वन विभाग व राजस्व पुलिस भी मौके पर पहुंची। ग्रामीण मातवर सिंह व अन्य ग्रामीणों ने गुलदार को नरभक्षी घोषित किए जाने की मांग की है। उन्होंने पीड़ित परिवार को मुआवजा दिए जाने, क्षेत्र में वन विभाग द्वारा नियमित गश्त लगाए जाने, पिंजरा लगाए जाने की मांग की है। ग्रामीणों ने कहा कि क्षेत्र को गुलदार के आतंक से निजात जल्द नहीं दिलाए जाने पर उग्र आंदोलन किया जाएगा। चौकी प्रभारी पंवार ने पंचनामा भरकर 108 सेवा के माध्यम से बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल पौड़ी भेजा।

भट्टीगांव व सपलोड़ी में दो महिलाओं का मार चुका है गुलदार
बीते 15 मई को सपलोड़ी गांव की एक महिला को गुलदार ने मार दिया था। वहीं दो जून को भट्टी गांव में एक बुजुर्ग महिला को गुलदार ने निवाला बनाया था।

एक को किया था आग के हवाले, तीन हुए थे कैद
पाबौ ब्लाक के भट्टीगांव व सपलोड़ी सहित आसपास के गांवों में गुलदार के आतंक से क्षेत्र में खासा आक्रोश था। बीते 24 मई को सपलोड़ी गांव में एक गुलदार पिंजरे में कैद हुआ था जिसे आक्रोशित भीड़ ने जिंदा आग के हवाले कर दिया था। इस पर वन विभाग द्वारा सपलोड़ी प्रधान सहित ग्रामीणों पर मुकदमा दर्ज करवाया था। वहीं सपलोड़ी, सरणा व आसपास लगे पिंजरों में तीन गुलदार कैद हो गए थे।

शिक्षा मंत्री ने डीएम व डीएफओ को दिए निर्देश
प्रदेश के शिक्षा व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने घटना पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए डीएम पौड़ी व डीएफओ गढ़वाल को गांव में तत्काल पिंजरा लगाए जाने, गांव में वन विभाग की टीम तैनात किए जाने व जल्द से जल्द गुलदार को हर हाल में पकड़े जाने के कड़े निर्देश दिए हैं। शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस मामले में किसी तरह की लापरवाही बरदाश्त नहीं की जाएगी।

घटना के बाद क्षेत्र में वन विभाग की टीम ने गश्त बढ़ा दी है। साथ ही पिंजरा लगाया जा रहा है। पीड़ित परिवार को तात्कालिक मुआवजे के रुप में 50 हजार की सहायता दी जा रही है।
– मुकेश कुमार, प्रभागीय वनाधिकारी, गढ़वाल वन प्रभाग 

You may also like