जीआरडी गैंग रेप: आरोपियों को कठोर सजा

आरोपी छात्र को सामूहिक दुष्कर्म का दोषी क़रार देकर पॉक्सो कोर्ट ने उसे 20 साल की सजा सुनाई। वहीं इस मामले में आरोपी तीनों नाबालिग छात्रों को भी तीन-तीन साल की सजा सुनाई है।

ख़ास बात:   

  • सहसपुर क्षेत्र के जीआरडी बोर्डिंग स्कूल में 14 अगस्त, 2018 को छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना घटी।
  • आरोपी छात्र को सामूहिक दुष्कर्म का दोषी क़रार देकर पॉक्सो कोर्ट ने उसे 20 साल की सजा सुनाई ।
  • कोर्ट ने इस मामले में आरोपी तीनों नाबालिग छात्रों को भी तीन-तीन साल की सजा सुनाई है।
  • स्कूल प्रबंधन को साक्ष्य छुपाने, षड्यंत्र और गर्भपात कराने में दोषी करार दिया।
  • आरोपी प्रिसिंपल को तीन साल की सजा औऱ स्कूल निदेशक, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी दीपक व उसकी पत्नी को दोषी करार देते हुए 9 -9 साल की सजा सुनाई ।

देहरादून: दो वर्ष पूर्व साल 2018 में राजधानी देहरादून के एक प्रसिद्ध बोर्डिंग स्कूल में एक बड़ा मामला सामने आया था। जीआरडी बोर्डिंग स्कूल में एक नाबालिग से  सामूहिक दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया था। कालेज के कुछ छात्रों द्वारा एक नाबालिग से गैंग रेप के मामले में आज राजधानी की पॉक्सो अदालत ने आरोपियों को सजा सुना दी।

आरोपी छात्र सरबजीत को सामूहिक दुष्कर्म का दोषी क़रार देकर पॉक्सो कोर्ट ने उसे 20 साल की सजा सुनाई । वहीं कोर्ट ने इस मामले में आरोपी तीनों नाबालिग छात्रों को भी तीन-तीन साल की सजा सुनाई है। इन तीनों को पिछले साल किशोर न्याय बोर्ड ने बरी कर दिया था। आज पोक्सो कोर्ट ने सजा सुनाने के बाद तीन दिन के भीतर तीनों को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत होने के आदेश दिए है।

इस प्रकरण में अदालत ने स्कूल प्रबंधन को साक्ष्य छुपाने, षड्यंत्र और गर्भपात कराने में दोषी करार दिया व आरोपी प्रिसिंपल को तीन साल की सजा औऱ स्कूल निदेशक, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी दीपक व उसकी पत्नी को अलग अलग धाराओं में दोषी करार देते हुए 9 -9 साल की सजा सुनाई । इसके अलावा प्रबंधन पर 10 लाख का जुर्माना भी लगाया गया ।

सितंबर 2018 में सहसपुर क्षेत्र के एक बोर्डिंग स्कूल में छात्रा के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था। घटना 14 अगस्त, 2018 की बताई गई थी। आरोप था कि उसके चार सहपाठी और सीनियर छात्र ने उससे दुष्कर्म किया और फिर स्कूल प्रबंधन ने मामले को उसके घरवालों से छिपा कर उसका गर्भपात कराया। घटना का खुलासा होते ही पुलिस ने तीन नाबालिग आरोपियों को पकड़कर एक बालिग छात्र को गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद आपराधिक साजिश और गर्भपात कराने के मामले में डायरेक्टर समेत प्रबंधन के पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

Leave a Reply