अब जाकर जागा चुनाव आयोग, रैलियों को लेकर दी चेतावनी

पिछले कई महीनों से देश में कोविड के नियमों का उल्लंघन होता दिख रहा था।

अब जाकर जागा चुनाव आयोग, रैलियों को लेकर दी चेतावनीनई दिल्ली । लगभग 75 प्रतिशत चुनावी प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद अब जाकर आयोग ने नई चेतावनी जारी करते हुए कहा कि अगर विधानसभा चुनावों के दौरान चुनावी रैलियों में कोविड के खिलाफ नियमों का पालन नहीं किया जाता है तो उम्मीदवारों और स्टार कैंपेनरों को आगे रैलियां करने पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

आयोग की यह चेतावनी तब आई है, जब तीन दिन पहले ही तीन राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश – असम, तमिलनाडु, केरल और पुदुच्चेरी में वोटिंग संपन्न हो चुकी है। इन राज्यों में वोटिंग और चुनाव प्रचार के दौरान कोविड नियमों की धज्जियां उड़ती हुई दिखी थीं। आज पश्चिम बंगाल में चौथे चरण की वोटिंग हो रही है। अभी वहां चार चरणों का मतदान बाकी है।

चुनाव आयोग ने अपने नोटिस में कहा है, ‘आयोग के संज्ञान में ऐसी चुनावी बैठकों/प्रचार कार्यक्रमों की जानकारी आई है, जहां आयोग के सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने जैसे नियमों का उल्लंघन होता दिखा। ऐसी घटनाएं सामने आई हैं, जहां स्टार कैंपेनर्स/राजनीतिक नेता/उम्मीदवारों ने खुद स्टेज पर मास्क नहीं लगाया है और कोविड के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं। ऐसा करके वो खुद को और जनता को संक्रमण के खतरे में डाल रहे हैं।’ आयोग ने आगे कहा कि ‘उल्लंघन की स्थिति में आयोग जनसभाओं और रैलियों को बैन करने में हिचकेगा नहीं।’

ममता को लगी चोट की सीबीआई जांच नहीं: सुप्रीम कोर्ट

ज्ञात रहे कि देश में पिछले दो महीनों में कोरोना के मामलों में 13 गुना बढ़ोतरी हुई है। कोरोना की दूसरी लहर ने देश को बुरी तरह अपने चपेट में ले लिया है। पिछले कई महीनों से देश में कोविड के नियमों का उल्लंघन होता दिख रहा था। शनिवार की सुबह तक देश में कोरोना के अब तक सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। देश में पहली बार 1।45 लाख नए मामले मिले हैं।

हालांकि, पिछले महीनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और ममता बनर्जी, राहुल गांधी जैसे दूसरे कई विपक्षी नेताओं ने जमकर रैलियां और जनसभाएं की हैं। वहीं, कई त्योहारों और धार्मिक गतिविधियों के चलते भीड़ में संक्रमण का डर फैला है। इससे कोरोना के मामलों में और तेजी आई है।

उत्तराखंड की ख़बरें

Leave a Reply

ये भी पढ़ें