लॉकडाउन में जारी नशे का व्यापार; ड्रग विभाग ने मारा छापा

भगवानपुर के रायपुर गांव स्थित एक प्रसिद्ध मेडिकल स्टोर में छापेमारी में रखी प्रतिबंधित और नशीली दवाओं को देखकर अधिकारियों के पांव के नीचे से ज़मीन खिसक गई।

रिपोर्ट: मुर्सलीन अल्वी

ख़ास बात:

  • भगवानपुर के रायपुर गांव में एक प्रसिद्ध मेडिकल स्टोर में छापा
  • छापे में बरामद नशीली दवाएं और इंजेक्शन
  •  ड्रग विभाग ने मारा छापा
  • लम्बे समय से मिल रहीं थीं शिकायतें

भगवानपुर: कोरोना काल में देश लॉक डाउन में है और आप सिर्फ ज़रूरी सामन लेने के लिए ही निकल सकते हैं। प्रशासन ने भी अति आवश्यक चीज़ों के लिए ही दुकानों को खोलने की अनुमति दी है।  ऐसे में जो सबसे ज़रूरी चीज़ आती है, वो है दवाई  इनमे सबसे पहले नंबर पर आता है दवाई।

दवाई की दुकानों को सरकार की तरफ से खोलने के आदेश हैं लेकिन वहीं इस आदेश का कुछ लोग ग़लत फायदा उठाकर समाज में ज़हर घोलने का काम कर रहे हैं। ये लोग अपने निजी स्वार्थ के लिए लोगों को नशीली दवाएं तथा इंजेक्शन उपलब्ध कराकर उनको नशे का आदी बना रहे हैं। इस गंभीर विषय को लेकर संबंधित विभाग को काफी दिनों से शिकायतें मिल रही थी।

आज ड्रग विभाग हरकत में आया और रुड़की के भगवानपुर तहसील अंतर्गत रायपुर गांव स्थित एक प्रसिद्ध मेडिकल स्टोर में छापेमारी की गई तो मेडिकल स्टोर में रखी प्रतिबंधित और नशीली दवाओं को देखकर अधिकारियों के पांव के नीचे से ज़मीन खिसक गई।

ड्रग इंस्पेक्टर हरिद्वार एम एस राणा ने बताया कि भगवानपुर के रायपुर में काफी दिनों से नशीली दवाइयों की बिक्री की शिकायत मिल रही थी जिसको लेकर कुछ मेडिकल स्टोरों का निरीक्षण किया गया तथा जांच मै कुछ नशीली दवाएं तथा कुछ प्रतिबंधित दवाई मिली है जिसकी जांच की जा रही है तथा मेडिकल स्टोर स्वामी का लाइसेंस निरस्त किया जाएगा।

प्राप्त सूत्रों की माने तो मेडिकल स्वामी ने एक ही लाइसेंस पर दो से तीन दुकानें खोली हैं । जिसकी शिकायत भी संबंधित अधिकारियों से की गई थी तथा उसकी भी जांच की जा रही है।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें