पौड़ी: फ्लोरीकल्चर परियोजना लागू करने को प्रशासन तैयार

आने वाले समय में जिला योजना में फ्लोरीकल्चर के लिए भी पैसा उपलब्ध कराया जाएगा, जिससे पूरे जिले में फ्लोरीकल्चर को बढ़ावा मिले व किसानों की आय दोगुनी की जा सके।

पौड़ी: ज़िले में फ्लोरीकल्चर को स्थापित करने के लिए ज़िलाधिकारी पौड़ी ने इसकी शुरुआत कर दी है। परियोजना के मॉडल को ग्रामीण स्तर पर पूरे जिले में लागू करने की तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है।

इसमें उद्यान विभाग की मदद ली जा रही है और किसानों को पॉलीहाउस तकनीक से जोड़कर एग्रीकल्चर के साथ-साथ फ्लोरीकल्चर के गुर भी सिखाए जा रहे हैं।

इस परियोजना के क्रियान्वन के लिए जनपद पौड़ी के पोखड़ा ब्लॉक को चुना गया है। कभी कम बारिश से तो कभी अधिक बारिश के साथ ओलावृष्टि से किसानों को नुकसान उठाना पड़ता है। ऐसे में पॉलीहाउस तकनीक ही ग्रामीण इलाकों में सबसे कारगर तकनीक साबित हो सकती है। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि इस तकनीक के चलते किसानों की आमदनी की संभावना भी बढ़ाई जा सकेगी।

ज़िलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने बताया कि फेस-1 में फ्लोरीकल्चर को बढ़ावा देने के लिए हॉर्टिकल्चर के माध्यम से बीज उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके साथ ही हजार के करीब पॉलीहाउसेस इच्छुक ग्राम सभा को दिए जाएंगे। फिलहाल चूंकि लॉकडाउन की वजह से मार्केट पूरी तरह से नहीं खुल पाए हैं तो इन पॉलीहाउस में मौसमी सब्जी उगाने की तकनीक के बारे में जानकारी दी जाएगी। जैसे-जैसे बाजारों में आवाजाही शुरू होती रहेगी, इन पॉलीहाउस में हॉर्टिकल्चर के माध्यम से उगाए जाने वाले पौधों को भी लगाना शुरू कर दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि आने वाले समय में जिला योजना में फ्लोरीकल्चर के लिए भी पैसा उपलब्ध कराया जाएगा, जिससे पूरे जिले में फ्लोरीकल्चर को भी बढ़ावा मिल सके और किसानों की आमदनी को दोगुना किया जा सके।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें