कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट्स में देरी बनी जिला प्रशासन की सरदर्दी

हरिद्वार में कोरोना टेस्ट की देरी से आ रही रिपोर्ट्स ने ना केवल संभावितों को बल्कि जिला प्रशासन को भी चिंता में डाल दिया है।

 

हरिद्वार: हरिद्वार में कोरोना टेस्ट की देरी से आ रही रिपोर्ट्स ने ना केवल संभावितों को बल्कि जिला प्रशासन को भी चिंता में डाल दिया है। दरअसल बड़ी संख्या में प्रवासी सबसे पहले हरिद्वार पहुंचते हैं, जिन्हें यहां फैसलिटी क्वारंटीन में रखना जिला प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती है।

समस्या तब ज्यादा बढ़ जाती है जब यह प्रवासी अपना  क्वारंटीन पूरा कर लेते हैं और इनकी कोरोना रिपोर्ट आ नहीं पाती। ऐसे में जिला प्रशासन के पास इन्हें अपने जिलों में भेजना पड़ता है जिसके चलते यह कोरोना के बड़े संवाहक बन सकते हैं।

हालांकि डीएम ने कोरोना रिपोर्ट्स जल्दी भेजने के लिए शासन स्तर पर प्रयास किया है लेकिन सबसे ज्यादा ऋषिकेश स्थित एम्स और दून अस्पताल में भेजे गए सैम्पल की रिपोर्ट्स देर से आ रही हैं जिसने जिला प्रसासन की सरदर्दी बढ़ा दी है।

Leave a Reply