चमोली: चमोली के ऊँचाई वाले क्षेत्रों में भारी बर्फबारी होने के कारण जंगली जानवर की निचले इलाकों में आने को मजबूर हो गए हैं। जंगली जानवरों के आवासीय इलाकों में आने से जहाँ खेतों को नुक्सान पहुंचा रहे हैं, वहीं उनकी जान को भी खतरा बना हुआ है।

आज ही एक बारहसिंघा जंगल से भटक कर जिला मुख्यालय के नजदीक देवलधार ग्वाड़ गाव में पहुँच गया, ग्रामीणों द्वारा वन विभाग को सूचित किया। विभाग मौके पर पहुंच कर बारहसिंघा को जंगल मे वापस भेजने का प्रयास में लगा, लेकिन एक छोटी सी गलती से उसकी जान चली गई।

ग्रामीणों का कहना है कि बारहसिंघा को भगाने के लिए पटाखे जलाए गए, पटाखों की आवाज सुनते ही उसने बचने के लिए चट्टान से छलांग मार दी, जिसमें बारहसिंघा की मौके पर ही मौत हो गई।

Leave a Reply