Home उत्तराखंड टॉप मसूरी में कैबिनेट मंत्री जोशी के सामने भाजपा कार्यकर्ताओं का फूटा गुस्सा

मसूरी में कैबिनेट मंत्री जोशी के सामने भाजपा कार्यकर्ताओं का फूटा गुस्सा

मसूरी भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने मसूरी के महात्मा योगेश्वर सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के सभागार में बैठक की। कार्यकर्ताओं ने कहा कि भाजपा के शासन में मसूरी में भाजपा विधायक और कैबिनेट मंत्री व प्रदेश में भाजपा सरकार होने के बावजूद भी पालिका में भ्रष्टाचार की शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है जिसको लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में खासा आक्रोश व्याप्त है। उन्होंने कहा कि कई लोगों का यह भी कहना है कि कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी का पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता के प्रति नरम रुख है। उन्होंने कहा कि पालिका अध्यक्ष अपनी मनमानी कर सभी नियमों को ताक पर रखकर मसूरी के विभिन्न क्षेत्रों पर वेंडर जोन और आवास के नाम पर निर्माण करा रहे हैं जबकि संबंधित विभाग द्वारा चालान की कार्रवाई की जा चुकी है परंतु भ्रष्टाचार में लिप्त एमडीडीए के अधिकारी कार्यवाही नहीं हो रही है।

मसूरी नगर पालिका सभासद गीता कुमाई ने कहा कि कई बार उनके द्वारा शासन और प्रशासन स्तर पर नगर पालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर शिकायत की गई है परंतु कोई भी अधिकारी भ्रष्टाचार को लेकर कार्रवाई नहीं कर रहा है जो दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि प्रदेष की भाजपा की भ्रश्टचार की जीरो बैलेंस की सरकार पर भी मसूरी की जनता सवाल कर रही है जिससे भाजपा कार्यकर्ताओं का मनोबल टूट रहा है। उन्होने कैबिनेट मंत्री गणेष जोषी और सरकार से पालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार और अनिमितताओं के खिलाफ कठोर कार्यवाही करने की मांग की है।

राज्य आंदोलनकारी ललित मोहन काला ने कहा कि मसूरी उत्तराखंड आंदोलन की जननी है जहा पर 6 लोगो ने अपनी षहादत दी थी । पर नगर पालिका प्रशासन द्वारा सभी नियमों को ताक पर रखकर मसूरी के शहीद स्थल और शहीदों की लगी मूर्ति से छेड़छाड़ की जा रही है। पालिका द्वारा षहीद स्थल से सटे हवाधर को तोडकर रेस्टोरेंट बनाया जा रहा है जिसका मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण द्वारा चालान की कार्रवाई की गई है परंतु दुर्भाग्यवश चालान के बाद भी काम बदस्तूर जारी है।

उन्होंने कहा कि शहीदों का अपमान किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी स्वयं आंदोलनकारी भी है परन्तु मसूरी में शहीद स्थल और शहीदों की मूर्ति से हो रही छेड़छाड़ को लेकर उनके द्वारा कोई कार्यवाही ना किये जाने पर उन पर भी कई सवाल खडे कर रहा है। उन्होने कह कि शहीदों के सम्मान को बचाने के लिए कैबिनेट मंत्री गणेष जोषी द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जाती तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। ललित मोहन काला ने कहा कि कहा कि मसूरी नगर पालिका द्वारा मसूरी मैसानिक लॉज बस स्टैंड पर पालिका द्वारा पार्किंग के नाम पर अवैध रूप से बनाए जा रहे आवास और दुकानों को लेकर भी उनके द्वारा कई बार आवाज उठाई गई परंतु दुर्भाग्यवश ना तो शासन और ना ही प्रशासन के द्वारा कार्रवाई की गई ।

मसूरी किक्रेग पर सभी नियमों को ताक पर रखकर सड़क के चौराहे पर 20 दुकानों का निर्माण कर दिया गया वहीं लंबी लड़ाई के बाद 10 दुकानों हटा दिया गया परन्तु जिलाधिकारी के द्वारा षेश 10 दुकानों को हटाने के निर्देश के बाद भी अधिशासी अधिकारी द्वारा दुकानों को नही हटाया गया।भ्जिससे साफ है कि प्रदेश में अफसरशाही किस तरीके से काम कर रही है।

मसूरी नगर पालिका के नामित सभासद मदन मोहन शर्मा ने कहा कि उनके द्वारा कई बार मसूरी नगर पालिका की बोर्ड बैठक में कंपनी गार्डन में अटल जी के आदमकद मूर्ति लगाने का प्रस्ताव को रखा गया परंतु पालिका प्रशासन द्वारा उनको मात्र आश्वासन ही दिया जा रहा है जबकि अटल जी की मूर्ति लगाने को लेकर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है जो दुर्भाग्यपूर्ण है।

बैठक में साफ तौर पर देखा गया कि भाजपा कार्यकर्ताओं में पालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार और अनियमितताओं को लेकर शिकायत करने पर कोई कार्रवाई नहीं होने पर अपनी ही सरकार और क्षेत्र के विधायक  कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी और भाजपा मंडल के प्रति भी आक्रोश देखा गया।

You may also like