Home उत्तराखंड टॉप कोरोना दौर में ऋषिकेश जाना है तो सोच समझ कर जाइए, कही होना ना पड़े होम इसोलेट

कोरोना दौर में ऋषिकेश जाना है तो सोच समझ कर जाइए, कही होना ना पड़े होम इसोलेट

ऋषिकेश। कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान घूमने का शौक कहीं भारी न पड़ जाए। दरअसल, तीर्थनगरी ऋषिकेश में मंगलवार को कोरोना के रिकार्ड मामले सामने आए हैं। ऋषिकेश और आसपास क्षेत्र में 137 व्यक्ति संक्रमित पाए गए, जिनमें 84 पर्यटक शामिल हैं।

यह सभी पर्यटक यहां से लौट चुके हैं। संक्रमितों में ऋषिकेश रोडवेज डिपो का एक कर्मचारी, और दो पुलिसकर्मी भी शामिल हैं।लक्ष्मणझूला क्षेत्र के कोविड नोडल अधिकारी डा. राजीव कुमार ने बताया कि क्षेत्र में 80 पर्यटकों की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव मिली है।

संक्रमित पर्यटक दिल्ली, गाजियाबाद, मोदीनगर, रुड़की, राजस्थान आदि इलाके के रहने वाले हैं। इनकी एक दिन पहले जांच की गई थी। ये सभी लौट चुके हैं। इसके साथ ही यमकेश्वर और लक्ष्मणझूला क्षेत्र के 13 स्थानीय लोग की रिपोर्ट भी पाजिटिव मिली है। कुल 93 कोरोना के नए केस क्षेत्र में मिले हैं।

उधर राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश में बीते सोमवार को 126 व्यक्तियों के आर टीपीसीआर सैंपल जांच के लिए एम्स ऋषिकेश भेजे गए थे, इनकी रिपोर्ट मंगलवार को मिली। हेल्थ सुपरवाइजर एसएस यादव ने बताया कि 24 व्यक्तियों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। एंटीजन जांच में दो व्यक्ति की रिपोर्ट पाजिटिव आई।

संक्रमित बापूग्राम, 20 बीघा, आवास विकास कालोनी, श्यामपुर, गंगा नगर, शिवलोक कालोनी, इंदिरानगर, सुमन विहार, मनीराम रोड, तपोवन, हीरालाल मार्ग, ढालवाला आदि क्षेत्रों के निवासी हैं। बताया कि सभी ने बुखार, जुकाम और खांसी की शिकायत होने पर जांच कराई थी।

मुनिकीरेती क्षेत्र के नोडल अधिकारी डा. जगदीश जोशी ने बताया कि मंगलवार को 228 व्यक्तियों की आरटी पीसीआर जांच की गई है। सोमवार को भेजे गए सैंपल की जांच रिपोर्ट में 18 व्यक्तियों में संक्रमण की पुष्टि हुई है, जिनमें तपोवन पुलिस चौकी और नरेंद्र नगर थाने के दो पुलिसकर्मी, चार पर्यटक और शेष स्थानीय नागरिक शामिल हैं।

You may also like

Leave a Comment