यूनानी, सिद्ध केंद्र अब सफदरजंग में

इन केन्द्रों द्वारा देश भर से सफदरजंग अस्पताल में आने वाले मरीजों को यूनानी और सिद्ध प्रणालियों के जरिए आमूल स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा सकेंगी।

ख़ास बात:

  • सरकार ने देश भर में 12,500 आयुष स्वास्थ्य एवं आरोग्य केन्द्र खोले जाने का लक्ष्य निर्धारित किया है।
  • 4,000 केन्द्र इस वर्ष के दौरान स्थापित किए जाएंगे।
केन्द्रीय आयुष (स्वतंत्र प्रभार) और रक्षा राज्य मंत्री श्री श्रीपद येस्सो नाईक शनिवार को नई दिल्ली में सफदरजंग अस्पताल में यूनानी चिकित्सा केन्द्र का उद्घाटन करते हुए।
केन्द्रीय आयुष (स्वतंत्र प्रभार) व रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद येस्सो नाईक शनिवार को नई दिल्ली में सफदरजंग अस्पताल में यूनानी चिकित्सा केन्द्र का उद्घाटन करते हुए।

प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो

दिल्ली: आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद येसो नाइक ने आज नई दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल में यूनानी मेडिकल सेंटर और सिद्ध क्लिनिकल रिसर्च यूनिट का उद्घाटन किया। यूनानी मेडिकल सेंटर की स्थापना केन्द्रीय यूनानी औषधि अनुसंधान परिषद (सीसीआरयूएम) तथा सिद्ध क्लिनिकल रिसर्च यूनिट की स्थापना केन्द्रीय सिद्ध औषधि अनुसंधान परिषद (सीसीआरएस) ने की है।

इस अवसर पर नाइक ने कहा कि भारत सरकार आयुष औषधि प्रणाली के जरिए लोगों को स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने में विशेष रूचि ले रही है। उन्होंने कहा कि आयुष मंत्रालय, आयुष भारत के अनुरूप देश भर के डेढ़ लाख स्वास्थ्य एवं आरोग्य केन्द्रों की मदद करेगा। नाइक ने बताया कि सरकार ने देश भर में 12,500 आयुष स्वास्थ्य एवं आरोग्य केन्द्र खोले जाने का लक्ष्य निर्धारित किया है, जिनमें से 4,000 केन्द्र इस वर्ष के दौरान स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि यूनानी मेडिकल सेंटर और सिद्ध क्लिनिकल रिसर्च यूनिट देश के विभिन्न भागों से सफदरजंग अस्पताल आने वाले मरीजों को यूनानी और सिद्ध प्रणालियों के जरिए आमूल स्वास्थ्य सुविधा प्रदान की जा सकेंगी।

केन्द्रीय आयुष (स्वतंत्र प्रभार) और रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद येस्सो नाईक शनिवार को नई दिल्ली में सफदरजंग अस्पताल में यूनानी चिकित्सा केन्द्र का उद्घाटन करते हुए।

उद्घाटन अवसर पर आयुष मंत्रालय के अपर सचिव प्रमोद कुमार पाठक ने कहा कि आयुष प्रणालियों के संवर्धन और विकास को सुनिश्चित करने के लिए आयुष मंत्रालय को अधिकार प्राप्त है और वह इन प्रणालियों को राष्ट्रीय जन-स्वास्थ्य प्रणाली में शामिल करने की दिशा में काम कर रहा है।

सफदरजंग अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ सुनील गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की दृष्टिकोण के तहत आयुष प्रणालियों को पूरे विश्व में स्वीकृति मिल रही है।

उपस्थित विशिष्टजनों ने सीसीआरएस द्वारा प्रकाशित सिद्ध डॉजियर और जर्नल ऑफ रिसर्च इन सिद्ध मेडिसिन (द्वितीय संस्करण) तथा सीसीआरयूएम द्वारा प्रकाशित मधुमेह, उच्च रक्तचाप और मोटापे पर आईईसी पुस्तिकाओं का विमोचन भी किया।

सीसीआरयूएम इस समय दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल और दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में यूनानी मेडिकल सेंटर चला रहा है।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें