वे सर्वमित्र थे, सर्वप्रिय थे: मोदी

मोदी ने दुःख जताया कि इतनी घनिष्ठ मित्रता के बावजूद भी वे अपने मित्र के अंतिम दर्शन नहीं कर सके और कहा – “इसका बोझ मेरे मन पर हमेशा रहेगा।”

ख़ास बात:

  • अरुण जेटली का निधन 24 अगस्त को दिल्ली के एम्स में हुआ था।
  • उनका जीवन हमें राष्ट्र के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित करता है: मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली को श्रद्धांजलि अर्पित की । श्रद्धांजलि सभा में पीएम नरेंद्र मोदी के अलावा गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा के कार्यकारी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा, वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी समेत बीजेपी के कई बड़े नेता पहुंचे ।

इस मौके पर प्रधान मंत्री ने कहा कि अरुण जेटली हर किसी के दोस्त थे, हर किसी को प्यारे थे । “उनका जीवन हमें राष्ट्र के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित करता है”, उन्होंने जेटली को याद करते हुए कहा।

जेटली को याद करते हुए मोदी ने कहा, ‘जीवन में सोचा नहीं था कि कभी ऐसा भी दिन आएगा कि जब मुझे मेरे दोस्त को श्रद्धांजलि देने के लिए आना होगा।” मोदी ने दुःख जताया कि इतने लंबे समय तक घनिष्ठ मित्रता के बावजूद भी वे अपने मित्र के अंतिम दर्शन नहीं कर सके और कहा – “इसका बोझ मेरे मन पर हमेशा रहेगा।”

उन्होंने आगे कहा कि – “मैं पहली मुलाकात में ही उनकी योग्यता और कार्यक्षमता का कायल हो गया था।” प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वर्गीय अरुण जेटली को एक बहुआयामी व्यक्तित्व बताते हुए कहा, “मुझे उनकी उपस्थिति याद आती है।”

 

अरुण जेटली का निधन 24 अगस्त को दिल्ली के एम्स में हुआ था। वे 66 वर्ष के थे और लम्बे समय से अस्वस्थ थे ।

Leave a Reply