जीएसटी में बदलाव, विभिन्न सेक्टर्स को फायदा

भारत ने भी जीएसटी काउंसिल ने विभिन्न बदलाव के जरिए प्रदेश में आर्थिक सुस्ती को दूर करने के प्रयास किए हैं।

देहरादून: देश में जीएसटी काउंसिल द्वारा कुछ नए संशोधनों के बाद इसका सीधा लाभ उत्तराखंड को भी मिलेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राष्ट्रीय स्तर पर हुए आर्थिक सुधारों की जानकारी देते हुए इसके उत्तराखंड पर पड़ने वाले प्रभाव की भी जानकारी दी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने जीएसटी में हुए बदलाव से प्रदेश के विभिन्न सेक्टर्स को इसका सीधा फायदा होने की बात कही।

वैश्विक मंदी के बीच दुनियाभर के देश अर्थव्यवस्था को लेकर तमाम बदलाव करने की दिशा में काम कर रहे हैं। भारत ने भी जीएसटी काउंसिल ने विभिन्न बदलाव के जरिए प्रदेश में आर्थिक सुस्ती को दूर करने के प्रयास किए हैं। मोदी सरकार के इन बदलावों का उत्तराखंड पर होने वाला असर, और प्रदेश के विभिन्न सेक्टर्स में बढ़ रही संभावनाओं को लेकर आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मीडिया से बात की।

मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि कॉर्पोरेट टैक्स में अब तक 30% तक का टैक्स कम करते हुए 22% किया गया है। यही नहीं नए स्थापित होने वाले उद्योगों को भी मात्र 15 परसेंट कॉर्पोरेट टैक्स देने का प्रावधान रखा गया है, जो कि चीन जैसे देश से भी 1% कम है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड के परिपेक्ष में बनाई गई तमाम उद्योग नीतियां भी अब निवेशकों को उत्तराखंड की तरफ आकर्षित कर रही है। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इन्वेस्टर समिट के बाद प्रदेश में 17000 करोड का निवेश धरातल पर दिखने लगा है, जबकि नई रियायत के बाद इसके और भी बढ़ने की संभावना है। प्रदेश में एमएसएमई ऑटोमोबाइल फार्मा कंपनियां समेत तमाम सेक्टर्स में बुस्ट के आसार हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड में स्किल्ड मैनपावर और उनकी विश्वसनीयता के चलते निवेशक उत्तराखंड में आने की इच्छा रखते हैं। जीएसटी में संशोधन से उद्योग का दर्जा टूरिज्म को मिलने के बाद अब होटल व्यवसाय में भी 15 से 20 प्रतिशत तक का उछाल मिलने की संभावना है। इसके साथ इलेक्ट्रिक गाड़ियों को प्रोत्साहन देने के लिए इनमें भी जीएसटी में रियायत दी गई है।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें