एसडीआरएफ जवान ने किया माउण्ट त्रिशूल फतेह

राजेन्द्र नाथ उत्तराखंड के पहले पुलिसकर्मी बने हैं जिन्होंने माउण्ट त्रिशूल (7120मीटर) के शिखर पर पहुंचकर कीर्तिमान बनाया है। राजेन्द्र भविष्य में माउण्ट एवरेस्ट फतेह करना चाहते हैं।

ख़ास बात:

  • राजेन्द्र नाथ उत्तराखंड के पहले पुलिसकर्मी बने हैं जिन्होंने माउण्ट त्रिशूल (7120मीटर) के शिखर पर पहुंचकर कीर्तिमान बनाया है।
  • उत्तराखण्ड एसडीआरएफ की एक टीम ने पिछले साल एवरेस्ट फतह किया था।

देहरादून: उत्तराखण्ड राज्य आपदा प्रतिवादन बल (एसडीआरएफ़) के नाम एक और बड़ी सफलता जुड़ी है। एसडीआरएफ द्वारा माउण्ट एवरेस्ट फतेह के बाद एसडीआरएफ जवान राजेन्द्र नाथ ने माउण्ट त्रिशूल शिखर पर झंडा फहराया है। जवान राजेन्द्र नाथ भविष्य में माउण्ट एवरेस्ट फतेह करना चाहते हैं।

राजेन्द्र नाथ उत्तराखंड के पहले पुलिसकर्मी बने हैं जिन्होंने माउण्ट त्रिशूल (7120मीटर) के शिखर पर पहुंचकर कीर्तिमान बनाया है। माउण्ट त्रिशूल अत्यधिक चुनौतीपूर्ण है और पर्वतारोहियों के बीच लोकप्रिय माने जाने वाला शिखर है। माउण्ट एवरेस्ट अभियान (8848मीटर) से पहले माउण्ट त्रिशूल (7120मीटर) को पर्वतारोहियों द्वारा प्री-एवरेस्ट के रूप में किया जाता है। हालांकि उत्तराखण्ड एसडीआरएफ की एक टीम ने पिछले साल एवरेस्ट फतह किया था। जवान राजेन्द्र नाथ ने इससे पहले साल 2018 में चन्द्रभागा-13 (6264 मीटर), साल 2019 में द्रौपदी का डांडा (DKD) 5670  का सफल आरोहण किया है।

उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा आरोहित मिशन सतोपंथ अभियान के टीम सदस्य के रूप में भी राजेन्द्र नाथ का चयन हुआ था। अब आने वाले दिनों में एसडीआरएफ जवान राजेन्द्र नाथ कि इच्छा माउण्ट एवरेस्ट आरोहण करने की है। इंडियन माउंटेन फेडरेशन (IMF) द्वारा संचालित पर्वतारोहण अभियान में चयनित सदस्य जवान राजेंद्र नाथ का 24 अगस्त से अभियान की शुरुआत की थी।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें