आपदा से हुए नुकसान की भरपाई को 101 करोड़

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आपदा से क्षतिग्रस्त सडकों, पुलों, पानी, बिजली, स्कूलों इत्यादि की मरम्मत तेज़ी के साथ करने के निर्देश भी दिए।

ख़ास बात:

  • प्रदेश में प्राकृतिक घटनाओं के चलते लगभग 1124 घटनायें।
  • 235 भवन पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त।
  • जिलाधिकारियों को ₹101 करोड़ रुपए उपलब्ध कराये गये हैं।

देहरादून: बीते मौसम में उत्तराखण्ड में आई विभिन्न इलाकों कि अलग-अलग प्राकृतिक घटनाओं के चलते लगभग 1124 घटनायें हुई हैं, जिसमें सूत्रों के अनुसार 70 लोगों की मृत्यु हुई है। इस घटनाओं में 73 लोगों के घायल होने कि सूचना मिली है व 4 लोग लापता हुए हैं। तेज़ बारिश, बादल फटने, भूस्खलन जैसी आपदाओं के चलते 235 भवन पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं।

हर साल बारिश के मौसम में बारम्बार दस्तक देती आपदाओं के चलते सम्पूर्ण प्रदेश व उसके दूरवर्ती इलाकों में विभिन्न प्रकार कि क्षति होती है। इस वर्ष विभिन्न प्राकृतिक घटनाओं के चलते 205 पेयजल योजनायें तथा 29 विद्युत लाइनों को नुकसान पहुंचा है।आपदा से करीब ₹300 करोड़ की क्षति होने का अनुमान है।

 

आपदा के परिणामस्वरूप उत्पन्न हुईं विभिन्न समस्याओं का जायजा लेते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि “प्रदेश में पिछले दिनों आई कुदरती आपदा से राहत एवं नुकसान की भरपाई के लिय धन की कमी आड़े नहीं आने दी जायेगी। इसके लिए जिलाधिकारियों को ₹101 करोड़ रुपए पहले ही उपलब्ध कराये जा चुके हैं।“ मुख्यमंत्री रावत ने आपदा से क्षतिग्रस्त सडकों, पुलों, पानी, बिजली, स्कूलों इत्यादि की मरम्मत तेज़ी के साथ करने के निर्देश भी दिए।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें